Vitamin E से होने वाले रोगों को लक्षण देखकर कैसे पहचाने?

Vitamin E का scientific name टोकोफेरोल है।यह विटामिन पानी में सॉल्युबल होता है। हमारे शरीर के इम्यून सिस्टम तथा त्वचा को लचीला बनाए रखने में मदद करता है। विटामिन ई में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते है जो की शरीर पर झुर्रियों को आने से बचाता है। Vitamin E शरीर को स्वस्थ रखता है तथा इसका सबसे अच्छा स्रोत हमारा स्वच्छ भोजन है। फिटनेस industry में इसका सर्वाधिक इस्तेमाल होता है।

Vitamin E के Source

Vitamin E हरे पत्तों वाली सब्जियों में प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। Vitamin e से युक्त कुछ प्राकृतिक संसाधन इस प्रकार है–
  • बादाम
  • सूरजमुखी के बीज
  • पी नट
  • अखरोट
  • उबली सब्जियां
  • पपीता
  • गेहूं के बीज का तेल
  • पालक
  • कीवी का फल
  • टमाटर
  • ब्रोकली
  • अजवाइन
  • जैतून

Vitamin E की कमी से होने वाले विकार

Vitamin E की कमी से व्यक्ति में Digestive system पाचन तंत्र से संबंधित विकार आ सकते है इसे Crohn Disease कहते हैं। Vitamin E की कमी से शरीर पर झुर्रियां बनने लगती हैं। Immune System कमजोर हो जाना भी vitamin e की कमी माना जा सकता है। आंखों से संबंधित बीमारी हो सकती है। Vitamin E की कमी से धुंधला दिखाई देने लगता है। विटामिन ई की कमी से बाल झड़ने लगते हैं।

विटामिन ई की कमी के लक्षण

Vitamin E se hone wale rog aur lilaj

कमजोरी (weakness) महसूस होना, धुंधला दिखाई देना (Blurred vision), मांसपेशियों में दर्द रहना (Muscular pain), बालों का झड़ना (Hair Fall), तंत्रिका तंत्र (Nervous System) Disorder आदि।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Google Adsense का पैसा बैंक अकाउंट में आने से पहले क्या क्या दिक्कते आती हैं? विटामिन E की कमी से कैसे जा सकती है जान, लक्षण पहचाने?