Sarla Thukral Google Doodle Kya Hai तथा सरला ठकराल का जीवन परिचय Sarla Thukral Biography In Hindi 100% Genuine Information

Sarla Thukral Google Doodle

पहली भारतीय महिला पायलट सरला ठकराल जी को उनकी 107 वीं जयंती पर Google ने Google Doodle बनाकर याद किया। गूगल ने कहा कि हम पिछले साल ही सरला ठकराल के सम्मान में Google Doodle बनाना चाहते थे परंतु उस समय केरल में हुए विमान हादसे की वजह से इसे स्थगित करना पड़ा था।

Google Doodle Kya Hai (What is Google Doodle in Hindi)

Google Doodle Kya Hai

Google Doodle एक विशेष स्थिति में किया जाने वाला सम्मान है जोकि Google के Homepage पर बदलाव करके प्रदर्शित किया जाता है।

यह एक अस्थाई बदलाव होता है जोकि छुट्टियों, घटनाओं, त्योहारों तथा लोगों की उपलब्धियों के सम्मान में तथा जानकारी के लिए किया जाने वाला परिवर्तन है।

आपको बता दें गूगल के डूडल बनाने का कार्य गूगल के कर्मचारियों की एक टीम करती है। जिन्हें Doodlers कहते हैं। गूगल का पहला Doodle सन् 1998 में Burning Man Festival के सम्मान में लैरी पेज तथा सर्गेई ब्रिन द्वारा बनाया गया था।

सरला ठकराल कौन थीं? सरला ठकराल का जीवन परिचय (Sarla Thukral Biography in Hindi)

Sarla Thukral Biography in Hindi. प्रथम भारतीय महिला पायलट और उद्यमी सरला ठकराल का जन्म 8 अगस्त सन 1914 में नई दिल्ली में हुआ था। सरला उस समय की नारियों के बाउंडेशन के रीति रिवाज को बदलते हुए अपने मन में सपनों को संजोए कुछ कर दिखाने की इच्छा जागृत की।

सरला ने उस समय की नारी परंपराओं को तोड़कर 1929 में दिल्ली में खोले गए फ्लाइंग क्लब में विमान चालक की ट्रेनिंग लेने लगी। उसी दौरान उनकी मुलाकात पायलट पी.डी. शर्मा से हुई। जोकि एक व्यावसायिक विमान में पायलट की भूमिका निभाते थे।

सरला ठकराल की शादी महज 16 वर्ष की उम्र में पायलट पी. डी. शर्मा से हुई। कहा जाता है की पी.डी. शर्मा के घर में 9 पायलट थे जिससे प्रेरित होकर सरला ने भी अपने सपनों की उड़ान भरने का दृढ़ निश्चय कर लिया था।

आप समझ सकते हैं की पुरुषों के वर्चस्व के बावजूद खुद को एक कर्मठ किरदार में पेश करना सरला ठकराल के लिए कितना कठिन रहा होगा।

सरला ठकराल की पहली उड़ान

अपने पति से प्रोत्साहित होकर सर लाने जोधपुर फ्लाइंग क्लब में प्रशिक्षण प्राप्त किया। अब समय था उस ऐतिहासिक पल का जब भारत को एक और नारी शक्ति का तोहफा मिलने वाला था।

सन् 1936 में सरला साड़ी पहने हुए भारतीय पोशाक में लाहौर हवाई अड्डे पर पहुंची और जिप्सी माथ नामक विमान में बैठे बस अब इंतजार था उस पल का की कब है भारत मां की बेटी अपने देश का नाम रोशन करेगी।

सरला ठकराल 2 सीटों वाले उस विमान को अकेले ही आकाश में उड़ा ले गई। और पहली भारतीय महिला पायलट बनने की उपाधि प्राप्त की।

विमान दुर्घटना ने बदली सरला ठकराल की ज़िंदगी

उस ऐतिहासिक उड़ान के 3 साल बाद उनके पति पी.डी. शर्मा का एक विमान दुर्घटना में देहांत हो गया। जिसके बाद सरला अपने पायलट बनने के सफर को बीच में छोड़ अपने बच्चों की देखभाल में लग गई।

सन् 1948 में सरला ठकराल ने दूसरी शादी की

सन 1947 में आजादी तथा विभाजन के बाद सरला अपनी दोनों बेटियों को लेकर दिल्ली आ गई। वहां इन्होंने सन 1948 में आरपी ठकराल के साथ दूसरी शादी की। सरला ठकराल ने आगे का जीवन एक उद्यमी के रूप में व्यतीत किया तथा 15 मार्च सन 2008 को सरला ठकराल की मृत्यु हो गई।

Conclusion

दोस्तों यह लेख Sarla Thukral Biography in Hindi पूरा प्रोत्साहन से भरा हुआ है। इस लेख में जिस भारतीय नारी की बात की गई है। वे हम सभी के लिए एक Motivation and Inspiration हैं। सरला जी ने अपने दृढ़ संकल्प को पूरा किया। समाज में व्याप्त तमाम कुरीतियों को तोड़ कर अपने आप को एक ऐसे किरदार में व्यक्त किया जोकि सिर्फ नारी ही नहीं बल्कि सभी के लिए कुछ कर दिखाने का जुनून पैदा करती हैं।

आशा करते हैं यह लेख जोकि Sarla Thukral Biography in Hindi सरला ठकराल का जीवन परिचय तथा सरला जी के जन्मदिन पर Google Doodle के रूप में श्रद्धांजलि अर्पित कर रहा है इसकी जानकारी आपको अवश्य ही अच्छी लगी होगी।

ऐसी ही महत्त्वपूर्ण जानकारी भविष्य में पाने के लिए हमारे ब्लॉग Technoyukti को Subscribe करें और अपने दोस्तों के साथ Share करें।

लेख पढ़ने के लिए दिल की गहराईयों से आपका बहुत बहुत धन्यवाद।

3 thoughts on “Sarla Thukral Google Doodle Kya Hai तथा सरला ठकराल का जीवन परिचय Sarla Thukral Biography In Hindi 100% Genuine Information”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.