IIT Kya Hai। IIT in India। IIT Colleges in India

स्वागत है आपका एक और हिंदी ब्लॉग में जहां हम बात करेंगे IIT Kya Hai (What Is IIT) IIT Kaise Kare आईआईटी कैसे करें और आईआईटीके टॉप कॉलेज कौन-कौन से हैं? Top IIT in India तो अगर आप जानना चाहते हैं इस टॉपिक के बारे में तो हमारे ब्लॉक को पूरा पढ़ें।

जैसा कि पहले से विदित है की जब भी कोई छात्र अपनी 12वीं की परीक्षा उत्तीर्ण कर लेता है तो उसका अगला कदम यही होता है कि अब उसे क्या करना चाहिए? और किस तरफ उसे जाना चाहिए।

वैसे तो बहुत सारे Streams है परंतु छात्र को अपने रुचि के हिसाब से तथा उसने जो 12वीं में जिस विषय का अध्ययन किया है उसी के अनुसार आगे की परीक्षाओं का चुनाव करना होता है।

IIT उन विद्यार्थियों के लिए है जिन्होंने 12वीं कक्षा में Science Side से पढ़ाई की है। क्योंकि IIT करने के लिए आपको भौतिक विज्ञान (Physics), रसायन विज्ञान (Chemistry) और गणित (Mathematics) विषयों का होना अनिवार्य है।

IIT एक संस्था है जोकि भारत में इंजीनियरिंग कराती है। यदि किसी छात्र ने अपनी 12वीं कक्षा में विज्ञान वर्ग से पढ़ाई की है तो वह अधिकतर आईआईटी के द्वारा इंजीनियरिंग करना पसंद करता है। इसके माध्यम से अगर कोई बच्चा कॉलेज में दाखिला ले लेता है तो यह उसके लिए बड़े गर्व की बात होती है।

इसमें केवल 12154 सीटें हैं और प्रत्येक वर्ष लगभग 12 -15 लाख विद्यार्थी इसकी प्रवेश परीक्षा में बैठते है। इन संस्थानों से इंजीनियरिंग करने वाले विद्यार्थियों को लेने के लिए कंपनियां करोड़ों का Package देने के लिए तैयार रहती है।

IIT करने से छात्र को स्नातक स्तर की डिग्री भी प्राप्त होती है। या यूं कहें की यह स्नातक स्तर का समकक्ष है। इसको करने के लिए विद्यार्थी को बड़ी लगन से पढ़ाई करनी पड़ती है। यह कहना जितना आसान है प्रवेश पाना उतना ही मुश्किल हो जाता है।

परंतु अगर कोई अपनी लगन से इसको करता है तो वह बहुत आसानी से इसमें प्रवेश पा सकता है। प्रवेश पाने के लिए यह प्रवेश परीक्षाएं करवाती है जिसके माध्यम से भारत में जितने कॉलेज हैं छात्रों की रैंक के अनुरूप इसमें दाखिला मिलता है। IIT Kya Hai को आगे विस्तार से समझेंगे।

IIT Full Form

 

Indian Institute of Technology.

 
जिसको हिंदी में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कहते हैं।

Top IIT in India

 

आईआईटी अधिनियम 1961 ऑटोनॉमस संस्थान है। भारत में आईआईटी की स्थापना 1951 में खड़कपुर में हुई थी। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान खड़कपुर ही पहला भारत का आईआईटी कॉलेज है।

इस संस्थान के अपने बोर्ड आफ डायरेक्टर हैं। दूसरा कॉलेज मुंबई में स्थित है जिसकी स्थापना सन 1958 में की गई थी। ऐसे ही भारत में कुछ 23 इंजीनियरिंग कॉलेज हैं जिनमें आईआईटी के माध्यम से प्रवेश मिलता है।

IIT ke liye Yogyata (Eligibility)

 

अगर आईआईटी में प्रवेश के लिए योग्यता की बात करें तो सबसे पहले छात्र को विज्ञान वर्ग से 12वीं की परीक्षा पास करनी होती है। अर्थात 12वीं में भौतिक विज्ञान रसायन विज्ञान तथा गणित इन तीनों का होना अनिवार्य है। और अगर उसके 75% से ऊपर नंबर आते हैं तो व इस परीक्षा के लिए योग्य होता है।

किंतु अगर किसी के 75% अंक नहीं आते हैं तो भी वह IIT Mains का एग्जाम से सकता है। लेकिन Advance परीक्षा देने के लिए 75% अनिवार्य है।

अगर आप Jee Mains में अच्छे नंबर हैं तो भी आप NIT जैसे कॉलेजों में ऐडमिशन ले सकते हैं। इसके लिए भी बहुत अच्छे-अच्छे कॉलेज भारत में स्थित हैं।

 

 

IIT Colleges In India

IIT के लिए भारत में 23 संस्थान हैं। जो नीचे बताएं गए हैं।
IIT Colleges In India
IIT Colleges in India

  1. खड़गपुर 
  2. मुंबई
  3. कानपुर
  4. मद्रास
  5. दिल्ली
  6. गुवाहाटी
  7. रुड़की
  8. रोपड़
  9. भुवनेश्वर
  10. गांधीनगर
  11. हैदराबाद
  12. जोधपुर
  13. पटना
  14. इंदौर
  15. मंडी
  16. वाराणसी
  17. पलक्कड़
  18. तिरुपति
  19. धनबाद
  20. भिलाई
  21. गोवा
  22. जम्मू
  23. धारवाड़

IIT JEE Mains Exam Pattern

 

अगर इसकी परीक्षा की बात करें तो मेंस में 2 पेपर होते हैं। पहला पेपर बीटेक और दूसरे पेपर में बीआर्क बी प्लानिंग का कोर्स होता है।

Paper 1– इसमें Physics, Chemistry तथा Maths इन्हीं तीन विषयों का एग्जाम होता है प्रत्येक विषय ने 30 30 प्रश्न आते हैं प्रत्येक प्रश्न 4 नंबर का होता है। कुल 360 अंक की परीक्षा होती है। इसमें 1/4 नेगेटिव मार्किंग होती है।

प्रत्येक परीक्षार्थी को 3 घंटे का समय तथा 40% विकलांग विद्यार्थियों को 4 घंटे का समय दिया जाता है। यह पेपर हिंदी अथवा अंग्रेजी जिसमें छात्र चाहे दे सकता है लेकिन उसको भाषाओं का चुनाव तभी करना होगा जब वह इसके लिए फॉर्म का आवेदन करता है।

Paper 2– इसमें Maths, Aptitude और Drawing विषयों की परीक्षा ली जाती है। इसमें Maths के 30 प्रश्न तथा Aptitude के 50 प्रश्न जो की 4-4 अंक के होते हैं। और Drwaing से 2 प्रश्न पूछे जाते हैं जो की 70 अंक का होता है। इसमें कुल अंक 390 होते हैं। और Minus Marking इसमें भी 1/4 होती है।

IIT JEE Mains Course Duration

 

इस कोर्स की कुल समय अवधि 4 वर्ष है। और अगर आप B-Tech के साथ M-Tech भी करते हैं तो 6 वर्ष लग जाएंगे।

IIT Application Form के संबंध में

 

आईआईटी में Entry  हेतु सर्व प्रथम Jee Mains की परीक्षा देनी होती है इसके फॉर्म वर्ष में दो बार आते है हालांकि 2013 के पहले ऐसा नहीं था उस समय में पूरे वर्ष में केवल एक ही बार फॉर्म निकलता था।

लेकिन 2013 के बाद Jee Mains के Form एक साल में दो बार आने लगे है।एक तो दिसंबर के आस पास जिसका Exam  जनवरी में होता है तथा दूसरी बार फॉर्म मार्च में निकलता है जिसका Exam अप्रैल में होता है।

2013 के बाद से इसमें कुल तीन साल में 6 Chances मिलते हैं जिसको Crack करने के बाद Jee Advanced  की परीक्षा के लिए आप योग्य होंगे।

IIT JEE Advanced Exam Pattern

 

यह परीक्षा JEE Mains Exam के कुछ सप्ताह बाद ही करवाई जाती है अतः आपको हमेशा अपडेटेड रहना चाहिए जिससे जानकारी तुरंत प्राप्त हो सके।

Mains के जैसे इसमें भी उन्हीं तीन विषयों Physics, Chemistry और Maths का ही एग्जाम होता है। यह परीक्षा भी दो भागों में कराई जाती है। तीन पेपर होंगे तीन 3 घंटे का समय दिया जाता है।

Paper 1– प्रत्येक विषय में तीन सेक्शन होते हैं पहले सेक्शन में 8 प्रश्न दूसरे सेक्शन में 10 प्रश्न तथा तीसरे और अंतिम में दो प्रश्न होते हैं।

पहले सेक्शन के प्रत्येक प्रश्न के लिए चार नंबर होता है और इसमें नेगेटिव मार्किंग नहीं होती है।

दूसरे सेक्शन में चार नंबर का हर प्रश्न होता है और इसमें 1/2 नेगेटिव मार्किंग भी होती है।

और अंतिम सेक्शन के लिए भी नेगेटिव मार्किंग का प्रावधान है प्रत्येक प्रश्न के लिए 2 अंक और अगर एक प्रश्न गलत हुआ तो एक अंक कम हो जाएगा।

Paper 2– इसमें भी तीन तीन विषय और प्रत्येक विषय में 3-3 सेक्शन होते हैं। पहले सेक्शन में 8 प्रश्न प्रत्येक प्रश्न चार अंक का और कोई नेगेटिव मार्किंग नहीं होती है।

दूसरे सेक्शन में भी 8 प्रश्न होते हैं प्रत्येक प्रश्न के लिए 4 अंक और एक आंसर गलत होने पर 2 नंबर काट लिया जाता है।

तीसरे और अंतिम सेक्शन में दो प्रश्न होते हैं प्रत्येक प्रश्न के लिए 2 अंक तथा एक उत्तर गलत होने पर एक नंबर की नेगेटिव मार्किंग की जाती है।

IIT करने के फायदे

 

IIT करने से हमें बहुत से फायदे हैं। यह करने से हम लोग समाज में एक प्रतिष्ठित व्यक्ति बन सकते हैं समाज में हमारी अपनी एक अलग पहचान होगी। IIT एक ऊंचा स्तर की शिक्षा है जिसको पढ़ने के बाद हम अपनी Family अथवा Friends के बीच में हम अपनी अलग Respect महसूस करेंगे। IIT में पढ़ने वाले छात्रों को अच्छी अच्छी सुविधाएं मिलती हैं इसमें पढ़ने के लिए कंप्यूटर तथा Laboratory की भी सुविधा प्रदान की जाती है। IIT के बाद हम लोगो का Placement अच्छे-अच्छे कंपनियों में होता है जो लाखो करोड़ों का Package देती हैं।

IIT Ki Taiyari (तैयारी) Kaise Kare

 
IIT Kya Hai
IIT की तैयारी कैसे करें ?

 

Time Management 

इस कोर्स कि अच्छे से तैयारी करने के लिए सबसे आवश्यक है कि आप अपने पढ़ने का समय निर्धारित कर लें। और अगर हो सके तो आज घर से दूर रह कर इसकी तैयारी करें। इससे आपको Freely तैयारी करने में फायदा होगा।

Coaching Institute का चुनाव 

आप किसी बढ़िया Coaching Centre का चुनाव करें। जहां पर पढ़ाने का तरीका बढ़िया हो। आप उस संस्था के बारे में पहले पता कर लें। Demo Class लेकर देख लें। अगर आपको पूरी तरह सही लगे आप वहां Comfortable हो और वहां का सफलता प्रतिशत कितना है। ये सब देख के अच्छा सा चुनाव करें। इससे आपको Exam Clear करने में मदद मिलेगी।

Previous Question Papers

 आपके लिए यह बहुत ही फायदेमंद हो सकता है। अगर आप पिछले सालों में हुए प्रश्न पत्र को हल करते हैं। तो इससे अपको बहुत jyade मदद मिल सकती है।

सिर्फ इसी में नहीं अपितु किसी में भी किसी भी तरह की परीक्षा है अगर आप पुराने प्रश्न पत्र हल करते हैं तो आप भरोसा रखिए। आप जरूर सफल होंगे।

Group Discussion

 यह तो बहुत ही आवश्यक है। हर उस छात्र के लिए जो किसी भी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं। क्योंकि ऐसा करने से यह फायदा होगा कि ग्रुप डिस्कशन में जितने भी लोग होते हैं सबके पास अलग अलग क्षमता होती है। अगर एक दूसरे से विचार विमर्श करेंगे। तो अधिक जो भी Doubt रह जाते हैं। वह भी खत्म हो जाए हैं Group Discussion करने से।

Conclusion

 

यह परीक्षा भारत की कठिन परीक्षाओं में से एक है। इसमें प्रवेश पाने के लिए छात्र को जी तोड़ मेहनत करनी होती है। यह कठिन जरूर है लेकिन असंभव नहीं है।

आप बढ़िया से तैयारी करें और पिछले साल के प्रश्न पत्र को जरूर पढ़ें और Solve करें। जब आप यह करेंगे तो आपको भी लगेगा कि आप कुछ अच्छा कर रहे हैं।

आप जब भी किसी भी परीक्षा के लिए तैयारी कर रहे हैं तो आपके लिए सबसे आवश्यक बात यह है कि आप टेंशन के साथ कभी पढ़ाई मत करें। आप Fresh मूड में पढ़ने की कोशिश करें।

आशा करते हैं आपके लिए यह जानकारी IIT Kya Hai महत्वपूर्ण रही होगी। हमारे लिए कोई सवाल या सुझाव हो तो Comment करके अवश्य बताइए।

ऐसी ही महत्वपूर्ण जानकारी भविष्य में पाने के लिए हमारे ब्लॉग को Share और Subscribe जरूर करें। क्योंकि ऐसी रोचक जानकारी हम लाते रहते हैं।

 

आपका बहुत बहुत धन्यवाद।

Leave a Comment