बड़ी खबर : Jio की फ्री Non – Jio कॉलिंग बंद,अब देने होंगे पैसे।

जिओ ने बंद की अपनी फ्री IUC कॉलिंग सुविधा:-

Jio Free Call IUC
जिओ ने अपने प्लान में किया बदलाव।   

जिओ यूजर्स के लिए बुरी खबर है। जी हां अपने सही सुना,जिओ ने अपनी IUC (Interconnect Usage Charge)कॉलिंग जो कि फ्री में हो रही थी उस पे रोक लगा दी है।यह चार्ज सिर्फ outgoing कॉल पर ही लगेगा।यह जिओ चलाने वालों के लिए बड़ी खबर है।
जिओ की आधिकारिक कम्पनी रिलाइंस ने 9 अक्टूबर 2019 को पूर्ण रूप से यह घोषित कर दिया है कि अब उसकी IUC कॉलिंग का लाभ उठाने के लिए यूजर को पैसे देने पड़ेंगे,और ये नियम 10 अक्टूबर 2019 को रात 12:00 AM से लागू हो जाएगा।जिओ के इस प्लान से 35 करोड़ ग्राहक प्रभावित होंगे।

IUC (Interconnect Usage Charge) :-

IUC एक तरह का चार्ज है जोकि टेलीकॉम कम्पनियों तथा ग्राहक दोनों के द्वारा भुगतान किया जाता है। यह चार्ज तब लगता है किसी एक नेटवर्क से अन्य नेटवर्क पर कॉल किया जाता है तो इसकी जो राशि होती है उसका भुगतान करना पड़ता है। ग्राहक टेलीकॉम कंपनी को भुगतान करता है और टेलीकॉम कंपनी TRAI को भुगतान करती है। Trai उस ऑपरेटर्स को देती है जिसपे कॉल किया जाता है।

क्या है पूरी खबर आइए जान लेते हैं :-

असल में बात ये है कि “TRAI (Telecom Ragulatory Authority of India) मतलब भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण” जहां से टेलीकॉम कंपनियों का नियम कानून बनाया जाता है।TRAI ने 2011 में कोर्ट ने एक नोटिस जारी किया था जिसमें लिखा था कि टेलीकॉम कंपनियों का जो कॉलिंग चार्ज है 2020 तक उसको शून्य कर दिया जाएगा।सभी कंपनियों ने ये मान लिया।लेकिन कुछ समय बाद इसने फिर एक संशोधन हुआ जिसमें IUC चार्ज को जोकि पहले 14 पैसे/मिनट था उसको घटा कर 6 पैसे पर मिनट कर दिया गया था।ये तो टेलीकॉम कंपनियों के लिए अच्छी खबर थी। लेकिन अब TRAI ने अपना तीसरा संशोधन किया है जिसमें कहा गया है कि जो कॉलिंग चार्ज 6 पैसे किया गया था और 2020 तक इसको शून्य किया जाना था उसमे कोई बदलाव नहीं किया जायेगा।जैसा जो चल रहा था वैसे चलेगा।

TRAI :-

भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण अधिनियम 1997 के तहत भारत सरकार द्वारा स्थापित किया गया था। जिसका लक्ष्य था भारत में दूर संचार की सुविधा का विकास करना है। इसका संशोधन २००२ में किया गया था। और इस समय यह एशिया का दूसरा तथा विश्व का तीसरा सबसे बड़ा दूरसंचार नेटवर्क है। इसका कार्य मुख्य विन्दुओं पर उचित सम्पोषित को सृजित करना है। इसका मुख्यालय नई दिल्ली है। इसके अध्यक्ष डॉ. जे एस शर्मा जी हैं।

जिओ पर प्रभाव :-

जिओ जोकि 2017 में रिलाइंस ने लॉन्च किया था।जैसा कि हम सभी जानते है कि जिओ ने अपने सुविधाओं में डाटा का सबसे ज्यादा भरोसा दिया है उसके साथ फ्री इनकमिंग और आउटगोइंग कॉल भी फ्री में करता था।जिओ का कहना है कि वो अपने ग्राहक से सिर्फ डाटा का ही पैसा लेता है।जोकि सही बात है।भारत में जिओ के 3 साल में करोड़ों यूजर्स हो गए हैं। बाकी कंपनियों कि बात करे तो सभी कॉलिंग का अलग से चार्ज करती हैं।लेकिन यह फैसला आने के बाद से जिओ ने भी अपने नियम में परिवर्तन किया है।जिओ ने कहा है कि 10 अक्टूबर से वो अपनी Non-Jio कॉलिंग पर 6 पैसे/मिनट की दर से चार्ज करेगा। जिओ कम्पनी पिछले तीन साल से फ्री में कॉलिंग सुविधा मुहैया करा रही थी।जिससे उसकी लगभग 13500 करोड़ का भुगतान करना पड़ा है।लेकिन जिओ को लग रहा था कि 2020 तक फ्री हो जाएगा तो इससे ग्राहक और कम्पनी दोनों को फायदा होगा।अचानक TRAI के संशोधन से यह फैसला जिओ को लेना पड़ा। जिओ ने कहा है कि वह Non-Jio का चार्ज तो लेगी लेकिन ग्राहक के लिए एक ओर ऑफर दे रही है।जैसा कि सभी को पता है कि जिओ अपनी डाटा के लिए जानी जाती है तो इसने अपने रिचार्ज पर एक्स्ट्रा डाटा देने का फैसला किया है।मतलब कि ग्राहक का कॉलिंग चार्ज तो लगेगा ही उसके साथ ग्राहक को अलग से डाटा भी मिलेगा। और जिओ ने यह प्लान लॉन्च कर दिया है।

ग्राहकों को TOP-UP रिचार्ज करना होगा :-

बताना चाहेंगे की जिओ users जो रिचार्ज पहले करते थे वही होगा लेकिन उसके साथ IUC टॉप अप रिचार्ज करना होगा।इसके लिए चार तरह के रिचार्ज लाये गए हैं।
रिचार्ज इस प्रकार हैं –
 
  • 10 रुपये के रिचार्ज पर आपको 124 Non – Jio मिनट के साथ 1GB डाटा मिलेगा।
  • 20 रुपये के रिचार्ज पर 249 Non – Jio मिनट के साथ 2GB डाटा दिया जायेगा।
  • 50 रुपये में 656 Non – Jio मिनट और 5GB डाटा मिलेगा।
  • 100 रुपये में 1,362 Non – Jio मिनट और 10GB डाटा मिलेगा।
jio recharge
जिओ के नए प्लान इस प्रकार से हैं। 

 

यह प्लान सिर्फ IUC कालिंग के लिए है। बाकी सारी सुविधा पहले जैसे ही रहेंगी। कंपनी सिर्फ नॉन – जिओ कॉल का पैसा ले रही है बाकि डाटा और जिओ – जिओ कॉल के प्लान में कोई परिवर्तन नहीं हुआ है।

कब से लागू होगा प्लान :-

प्लान का अनाउंसमेंट 9 अक्टूबर 2019 को किया गया जिसमें बताया गया कि 10 अक्टूबर से होने वाले रिचार्ज पे Non-Jio कालिंग और डाटा चार्ज के साथ रिचार्ज किया जाएगा।

जिओ ने बताया कि अन्य टेलीकॉम कंपनियों ने अपनी सर्विस पे चार्ज लगा रखा है जिसकी वजह से जिओ को रोजाना लगभग 30 करोड़ मिस्ड कॉल आते थे। इतनी बड़ी मात्रा में कंज्यूमर आने से Non-Jio कॉलिंग बहुत अधिक मात्रा में बढ़ जाता था। जिओ कहना है की वह अपने ग्राहकों के साथ साथ दूसरे ऑपरेटरों को भी अपनी सुविधा दे रहा है क्योंकि उसको रोजाना 25 – 30 करोड़ मिस्ड कॉल अन्य ऑपरेटर से आते हैं।

इस प्लान कि वैध्यता कब तक है:-

यह प्लान 31 दिसंबर 2019 तक तो रहेगा ही।कम्पनी ने कहा कि अगर जैसे की पहले आने वाला था कि 1 जनवरी 2020 से कॉलिंग चार्ज शून्य होने वाला था जिओ का प्रयास यही है कि ये कार्य पूर्ण हो सके जिससे उसकी ओर ग्राहक को किसी तरह की असुविधा ना हो। जिओ चाहती है की IUC हटाया जाये लेकिन TRAI अपने नियमों का पक्का है और ट्राई का फैसला सही होता है।

IUC प्लान पर Airtel ने क्या कहा :-

भारत की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनियों में से एक एयरटेल ने IUC फैसले को सही बताते हुए कहा की भारत में 2G users की संख्या अधिक है और जिओ के आने से अनेक टेलीकॉम कंपनियां बैंक्रप्ट हो गयीं और लाखों लोगो की नौकरी चली गयी।

जैसा की सभी को पता होगा की जिओ के आने के बाद जनता उसी के तरफ भाग रही है। इस वजह से बहुत टेलीकॉम कंपनियॉं बंद।

अगर आपके लिए मेरे द्वारा दी गयी जानकारी helpful रही हो तो हमारी पोस्ट को सब्सक्राइब और शेयर जरूर करें।

               आपका बहुत बहुत धन्यवाद

Leave a Comment